सूक्तिसुधा
स्व॒स्ति पन्था॒मनु॑ चरेम सूर्याचन्द्र॒मसा॑विव।[ऋ.५.५१.१५]
हम सूर्य और चन्द्रमा के समान कल्याण मार्ग का अनुसरण करें।
We shall follow the path of righteousness like sun and moon.


सम्पर्क : adhyatm.study@gmail.com
web counter